1678346

Weather Update : गुजरात के जूनागढ़ में 3000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया, IMD ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट

Photo of author

By jeenmediaa


Flood  in Junagad  :  गुजरात के जूनागढ़ जिले में मूसलाधार बारिश के एक दिन बाद रविवार को बाढ़ का पानी कम हो गया। इसके बाद प्रशासन सामान्य स्थिति बहाल करने में जुटा है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जिले में लगभग 3,000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर स्थानांतरित किया गया है।

 

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने रविवार को गुजरात के लिए ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी करते हुए कहा कि राज्य में 24 जुलाई को भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है।

 

इसने अगले 24 घंटों में देवभूमि द्वारका, राजकोट, भावनगर और वलसाड जिलों में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश का भी अनुमान जताया है।

 

अधिकारियों ने कहा कि जूनागढ़ शहर में रविवार सुबह 6 बजे बीते 24 घंटे की अवधि में 241 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। इससे कई हिस्सों में जलभराव हो गया और कई कारें क्षतिग्रस्त पाई गईं।

 

उन्होंने कहा कि बाढ़ के कारण शनिवार को गुजरात में दो राष्ट्रीय राजमार्ग, 10 राज्य राजमार्ग और 300 ग्रामीण सड़कें बंद कर दी गईं। उन्होंने कहा कि जहां-जहां पानी कम हुआ है, वहां यातायात बहाल कर दिया गया है।

 

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हाल में हुई भारी बारिश के कारण राज्य के विभिन्न हिस्सों में बाढ़ जैसी स्थिति के संबंध में गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल से बात की।

 

जूनागढ़ के जिलाधिकारी अनिल राणावसिया ने कहा कि बारिश रुकने के बाद शहर में पानी कम हो गया है। लगभग 200 लोगों को बचाया गया और शहर के निचले इलाकों से 750 लोगों को स्थानांतरित किया गया। अन्य 2,220 लोगों को एहतियात के तौर पर शहर से सटे ग्रामीण इलाकों में सुरक्षित स्थानों पर स्थानांतरित किया गया है।

 

उन्होंने कहा कि बिजली आपूर्ति जल्द बहाल हो जाएगी और आश्रय स्थलों में रहने वाले लोगों को भोजन के पैकेट वितरित किए जा रहे हैं।

 

अधिकारी ने कहा कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) और अग्निशमन विभाग की टीमें सामान्य स्थिति बहाल करने में जुटी हैं।

 

उन्होंने कहा कि ‘हमारा मुख्य ध्यान अब शहर की सफाई पर है। जूनागढ़ शहर में लगभग 600 सफाई कर्मचारी हैं, और अन्य जिलों से 400 अन्य कर्मचारी शहर भेजे जा रहे हैं।

 

जिलाधिकारी ने कहा कि कुछ इलाकों में बाढ़ के कारण बह गए और क्षतिग्रस्त हुए वाहनों को हटाने के लिए कई क्रेन तैनात की गईं हैं और पंपों के जरिए रिहायशी इलाकों में भरा पानी निकालने का काम जारी है।


Leave a Comment