1678346

Hariyali Somvati Amavasya: हरियाली सोमवती अमावस्या कब है, पूजा के शुभ मुहूर्त जानें

Photo of author

By jeenmediaa


Hariyali amavasya 2023 date : सावन श्रावण मास में हरियाली अमावस्या कब की है। श्रावण मास के लगने के साथ ही अमावस्या तक पेड़ पौधों को नया जीवन मिलता है। चारों ओर हरियाली छा जाती है। प्रकृति को देखना बहुत ही अच्‍छा लगता है। इसीलिए इसे हरियाली अमावस्या कहते हैं। आओ जानते हैं कि इस महत्वपूर्ण अमावस्या के क्या है शुभ मुहूर्त और इसे कब मनाया जाएगा।

 

कब है हरियाली अमावस्या : सावन माह की अमावस्या इस बार 17 जुलाई 2023 सोमवार को रहेगी। सोमवार को रहने के कारण इसे सोमवती अमावस्या भी कहते हैं।

 

हरियाली अमावस्या की पूजा के शुभ मुहूर्त:-

अभिजीत मुहूर्त : दोपहर 12:18 से 01:11 तक।

विजय मुहूर्त : दोपहर 02:56 से 03:49 तक।

गोधूलि मुहूर्त : शाम 07:18 से 07:40 तक।

पितृ दोष निवारण का दिन : धार्मिक ग्रंथों के अनुसार सावन मास में आने वाली अमावस्या को हरियाली या श्रावणी अमावस्या कहते हैं। इस अमावस्या पर पितरों की शांति, पिंडदान, नदी स्नान तथा दान-पुण्य के कार्य करने का विशेष महत्व है।

 

पेड़ पौधे लगाने वाला खास दिन : इस अमावस्या पर प्रकृति, पेड़-पौधे तथा घने वृक्षों के प्रति अपनी कृतज्ञता प्रकट करने के लिए ही इसे हरियाली अमावस्या के तौर पर जाना जाता है।

 

पीपल पूजा का खास दिन : इस दिन शिव जी तथा पीपल वृक्ष की पूजा-अर्चना करने से अक्षय पुण्यफल की प्राप्ति होती है। कुल मिलाकर यह दिन धार्मिक कार्यों को करने तथा पितरों को याद करके उनके निमित्त दान-पुण्य करने के लिए विशेष दिन माना गया है।


Leave a Comment