1678346

हिंसक हमले के बाद कनाडा में भारतीय छात्र की मौत, पिज्जा डिलीवरी के दौरान हुआ हमला

Photo of author

By jeenmediaa


टोरंटो। कनाडा में खाना पहुंचाने वाली कंपनी के कर्मचारी के रूप में काम करने वाले एक 24 वर्षीय भारतीय छात्र की हिंसक हमले के कुछ दिन बाद मौत हो गई। हमलावर भारतीय छात्र से कार छीनने की कोशिश कर रहे थे। मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। यह हमला छात्र पर पिज्जा डिलीवरी के दौरान किया गया।

 

सीटीवी न्यूज चैनल की रिपोर्ट के अनुसार गुरविंदर नाथ 9 जुलाई को देर रात 2 बजकर करीब 10 मिनट पर मिसिसॉगा के ब्रिटानिया और क्रेडिटव्यू रोड पर पिज्जा पहुंचा रहा था। तभी कुछ अज्ञात संदिग्धों ने उससे झगड़ा किया और उसका वाहन चुराने की कोशिश की।

 

पील रीजनल पुलिस के होमीसाइड ब्यूरो के निरीक्षक फिल किंग ने कहा कि जांचकर्ताओं का मानना है कि इसमें कई संदिग्ध शामिल हैं और पीड़ित को इस क्षेत्र में बुलाने के लिए खाना मंगवाया था। उन्होंने बताया कि जांचकर्ताओं ने हमले से पहले मंगाए गए पिज्जा ऑर्डर की ऑडियो रिकॉर्डिंग प्राप्त कर ली है।

 

पुलिस ने बताया कि नाथ के आने के बाद हमलावरों ने उस पर हमला कर दिया और गंभीर रूप से घायल अवस्था में छोड़कर वे वाहन लेकर फरार हो गए। घटनास्थल पर कई लोग सहायता के लिए आगे आए और मदद की गुहार लगाई। नाथ को ट्रामा सेंटर ले जाया गया, जहां उसे 14 जुलाई को मृत घोषित कर दिया गया।

 

कैनेडियन ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन (सीबीसी) की रिपोर्ट के अनुसार टोरंटो में भारत के महावाणिज्य दूत सिद्धार्थ नाथ ने कहा कि गुरविंदर की मृत्यु हृदयविदारक क्षति है और उन्होंने उसके परिवार, दोस्तों एवं समुदाय के प्रति संवेदना व्यक्त की। महावाणिज्य दूत ने गुरविंदर के परिवार से भी संपर्क किया।

 

उन्होंने कहा कि समुदाय ने जिस तरह से मदद का हाथ बढ़ाया, उससे मुझे खुशी हुई की कैसे दुख की इस घड़ी में परिवार का समर्थन करने के लिए वे आगे आए। महावाणिज्य दूत ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि अपराधियों को न्याय के कटघरे में लाया जाएगा।

 

सीबीसी ने बताया कि नाथ का शव टोरंटो में भारतीय महावाणिज्य दूतावास की मदद से 27 जुलाई को भारत लाया जाएगा। पुलिस ने बताया कि नाथ और हमलावरों के बीच कोई ज्ञात संबंध नहीं था। किंग ने बताया कि जांच प्रारंभिक स्तर पर होने के बावजूद पुलिस का मानना है कि नाथ निर्दोष था।

 

किंग ने बताया कि नाथ का वाहन हमले के कुछ घंटों बाद ओल्ड क्रेडिटव्यू और ओल्ड डेरी रोड क्षेत्र में लावारिस हालत में पाया गया जो अपराध स्थल से 5 किलोमीटर से भी कम दूरी पर था। बीते सप्ताह सीटीवी न्यूज टोरंटो ने नाथ के परिवार और दोस्तों से भी बात की जिन्होंने कहा कि ब्रैम्पटन निवासी नाथ की बिजनेस स्कूल के अंतिम सेमेस्टर के शुरू होने से पहले गर्मियों की छुट्टियां चल रही थी।

 

नाथ के रिश्तेदार भाई बलराम कृष्णन ने कहा कि वह निर्दोष था और केवल पिज्जा पहुंचा रहा था जब अज्ञात लोगों ने उस पर हमला कर दिया। भारत से नाथ वर्ष 2021 में जुलाई में कनाडा गया था और उसकी खुद का कारोबार शुरू करने की योजना थी।(भाषा)

 

Edited by: Ravindra Gupta


Leave a Comment