1678346

शतक लगाकर ब्रैडमैन के बराबर तो सचिन से आगे लेकिन गावस्कर से पीछे रह गए विराट कोहली

Photo of author

By jeenmediaa


INDvsWI अपने 500वें अंतरराष्ट्रीय मैच को यादगार बनाते हुए Virat Kohli विराट कोहली ने टेस्ट करियर का 29वां शतक लगाया जिससे भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन शुक्रवार को यहां अपनी पहली पारी में 128 ओवर में 438 रन बनाये।कोहली ने इसके साथ ही क्रिकेट इतिहास के सबसे महान बल्लेबाज माने जाने वाले सर डॉन ब्रैडमैन के 29 टेस्ट शतकों की बराबरी कर ली।

पिछले टेस्ट में शतक से चूकने वाले कोहली ने 206 गेंद की पारी में 121 रन बनाये। अंतरराष्ट्रीय करियर के अपने 76वें शतकीय पारी (टेस्ट, एकदिवसीय और टी20 मिलाकर) के दौरान उन्होंने रविंद्र जडेजा (61) के साथ पांचवें विकेट के लिए 159 रन की साझेदारी कर भारत की मजबूत वापसी करायी।

भारत के पूर्व महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अपने 500वें मैच तक 75 शतक ही बनाए थे। ऐसे वह इस मोड़ पर सचिन तेंदुलकर से 1 शतक आगे हैं। कोहली अब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक शतक बनाने वाले बल्लेबाजों में सचिन तेंदुलकर (100) से सिर्फ 24 शतक दूर हैं। कोहली (28) विदेशी सरज़मीन पर सर्वाधिक सैकड़े जड़ने के मामले में भी सचिन (29) को पछाड़ने की कगार पर हैं।

कोहली का वेस्टइंडीज के खिलाफ यह 12वां शतक है और इस टीम के खिलाफ सबसे ज्यादा शतक लगाने के मामले में वह जाक कैलिस के साथ संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर है। वेस्टइंडीज के खिलाफ सबसे ज्यादा शतक का रिकॉर्ड पूर्व महान खिलाड़ी सुनील गावस्कर (13) के नाम हैं।

संभवत यह वेस्टइंडीज में विराट कोहली का आखिरी दौरा हो सकता है। विश्व टेस्ट चैंपियनशिप चक्र 2023-25 में वेस्टइंडीज भी भारत खेलने नहीं आ रही है। इसक मतलब यह है कि दोनों टीम अब जुलाई 2025 में लॉर्डस् में खेले जाने वाले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के बाद ही टेस्ट सीरीज खेलेंगी। तब तक विराट कोहली टेस्ट टीम में रहेंगें भी या न रहेंगे यह पक्का नहीं है।

इससे पहले दिन का पहला सत्र पूरी तरह कोहली के नाम रहा। वेस्टइंडीज के गेंदबाजों के खिलाफ रन बनाने में उन्हें कोई परेशानी नहीं हुई। उन्होंने अपनी पारी के दौरान 11 चौके लगाये जबकि 77 रन दौड़ कर लिये। दिन की शुरुआत 87 रन से करने वाले कोहली ने रोच की गेंद पर चौके के साथ अपना शतक पूरा किया। विदेशी धरती पर 2018 (पर्थ में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ) के बाद कोहली का यह पहला शतक है।

क्वींस पार्क ओवल की पिच डोमिनिका में खेले गये पहले टेस्ट की तुलना में अब तक बल्लेबाजों के लिए अधिक मददगार रही है। कुछ गेंद रूक कर आ रही थी  और वेस्टइंडीज के गेंदबाज कोहली खिलाफ ऑफ स्टंप के आस-पास मुश्किल गेंदबाजी कर रहे थे। कोहली ने मैच की शानदार समझ दिखाते हुए आक्रामक शॉट खेलने की जगह एक और दो रन दौड़  कर लेने पर ज्यादा ध्यान दिया। उन्होंने 45 बार एक और 13 बार दो रन दौड़ कर लिये। उन्होंने 11 में से नौ चौके ऑफ साइड की तरफ लगाये।

दूसरे छोर से जडेजा ने भी उनका शानदार साथ दिया। उन्होंने कोहली का शतक पूरा होने के थोड़ी देर के बाद टेस्ट करियर का अपना 19वां अर्धशतक पूरा किया।

ऑफ स्पिनर गेंदबाज रहकीम कोर्नवाल की गैरमौजूदगी का भारत को फायदा हुआ। वामहस्त स्पिनर जोमेल वारिकन सही लाइन लेंथ से गेंदबाजी करने के बावजूद पिच से ज्यादा मदद हासिल नहीं कर सके।कोहली रन आउट हुए जबकि जडेजा को केमार रोच की गेंद पर विकेट के पीछे जोशुआ डा सिल्वा ने लपका।

लंच के बाद रविचंद्रन अश्विन (56) ने अर्धशतक जड़ने के साथ नीचले क्रम के बल्लेबाजों के साथ शानदार बल्लेबाजी कर टीम के स्कोर को 438 रन तक पहुंचाया। वह आउट होने वाले आखिरी बल्लेबाज रहे। उनके आउट होते ही अंपायरो ने चाय के विश्राम की घोषणा कर दी।

उन्होंने इशान किशन (25) के साथ सातवें विकेट के लिए 33 और जयदेव उनादकट (सात) के साथ आठवें विकेट के लिए 23 रन की साझेदारी कर टीम को 400 रन के पार पहुंचाया।  उन्होंने 78 गेंद की अपनी पारी में आठ चौके लगाये।

वेस्टइंडीज के लिए रोच ने 104 और जोमेल वारिकन ने 89 रन देकर तीन-तीन विकेट लिये। जेसन होल्डर ने 57 रन देकर दो जबकि शैनन ग्रैब्रियल ने एक विकेट लिया।इससे पहले मैच के शुरुआती दिन कप्तान रोहित शर्मा (80) और सलामी बल्लेबाजी में उनके जोड़ीदार यशस्वी जायसवाल (57) ने पहले विकेट के लिए 139 रन की साझेदारी कर बड़े स्कोर की नींव रखी थी।


Leave a Comment