1678346

लव सिन्हा ने बताया कैसे है पिता शत्रुघ्न सिन्हा के साथ संबंध, अभिनय की शिक्षा लेने के बारे में की बात

Photo of author

By jeenmediaa


Luv Sinha : शत्रुघ्न सिन्हा भारतीय मनोरंजन उद्योग में एक ऐसा नाम है जिसे किसी परिचय की आवश्यकता नहीं है। वह सही मायनों में एक जीवित दिग्ग्ज हैं और हिंदी सिनेमा में उनका योगदान शानदार है। आज भी, शत्रुघ्न सिन्हा अपने करियर के चरम के दौरान किए गए काम और प्रभाव के कारण इंडस्ट्री में एक प्रासंगिक और सम्मानित व्यक्तित्व बने हुए हैं।
 

शत्रुघ्न सिन्हा अनगिनत सफल परियोजनाओं का हिस्सा रहे हैं और उनके कुछ संवाद प्रतिष्ठित हैं और हमारे दिमाग और दिल में हमेशा के लिए रहते हैं। जिस तरह से वह अपनी अभिनय और आवाज मॉड्यूलेशन क्षमताओं का इस्तेमाल करके स्क्रीन पर सवांद प्रस्तुत करते थे, वह शत्रुघ्न सिन्हा के प्रशंसकों के लिए प्रशंसा और आनंद लेने के लिए सबसे खास बात थी। 

 

वास्तविक जीवन में, वह बेहद पारिवारिक हैं और अपने बच्चों को सही तरीके से तैयार करने की पूरी कोशिश करते हैं। उनके बेटे लव सिन्हा भी इस समय मनोरंजन उद्योग में अपना सर्वश्रेष्ठ दे रहे हैं। 'पलटन' में यादगार प्रदर्शन के बाद, लव सिन्हा ने प्रशंसकों का एक वफादार आधार अर्जित किया, जो वह आगे क्या कर रहे है यह जानने के लिए उत्सुक हैं।

 

सिर्फ अभिनय में ही नहीं, लव ऐसे व्यक्ति हैं जो हमेशा कला के अन्य रूपों से भी आकर्षित रहे हैं। यही कारण है कि, उन्होंने पहले अपना उद्यम 'हाउस ऑफ क्रिएटिविटी' शुरू किया था, जो कला समुदाय को वापस देने का उनका विनम्र तरीका था। हाल ही में उनके माता-पिता की सालगिरह के मौके पर इस प्लेटफॉर्म ने 2 साल पूरे किए।

 

बचपन से ही, लव का अपने पिता के साथ हमेशा मधुर संबंध रहा है और उन्होंने कभी भी इस महान व्यक्तित्व से सीखना बंद नहीं किया है। अपने पिता के साथ अपनी बॉन्डिंग के बारे में वह कहते हैं, वह हमारे उद्योग में एक बहुत ही ईमानदार और स्पष्टवादी व्यक्ति हैं। सभी पीढ़ियों से उन्होंने जो सम्मान और प्यार अर्जित किया है, वह मेरे लिए दिल को छू लेने वाला और प्रेरणादायक है। 

 

लव सिन्हा ने कहा, मुझे उनका बेटा होने पर गर्व महसूस होता है। वह न केवल एक अद्भुत अभिनेता हैं, बल्कि एक बेहतरीन इंसान भी हैं। एक खूबसूरत इंसान जो हमेशा अपने परिवार के लिए मौजूद रहते है। वह हमेशा मुझे सही तरीके से प्रेरित और प्रोत्साहित करते है। मैंने सिनेमा और राजनीति के संबंध में उनसे बहुत कुछ सीखा है।

 

उन्होंने कहा, आज भी, जब भी हम फिल्मों या शिल्पकला जैसे कला के विषय में बात करते हैं तो वह बहुत ऊर्जावान और उत्साह से भरे होते है। वह मुझे हमेशा सही सलाह देते हैं। मेरे लिए, मेरे माता-पिता किसी और से काफी ज्यादा मायने रखते हैं और मैं यह सुनिश्चित करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करना चाहता हूं कि मैं उन्हें गौरवान्वित करूं।

Edited By : Ankit Piplodiya


Leave a Comment