1678346

बदायूं मेडिकल कॉलेज में मरीज को चूहों ने काटा, प्राचार्य ने मामले की जांच के दिए आदेश

Photo of author

By jeenmediaa


Uttar Pradesh News : बदायूं के राजकीय मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के आईसीयू (गहन चिकित्सा इकाई) में भर्ती एक मरीज के अंगों को चूहों द्वारा कुतर दिए जाने का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य ने सोमवार को कहा कि इस मामले की जांच कराकर लापरवाह लोगों के खिलाफ कार्यवाही भी की जाएगी साथ ही भविष्य में वार्ड तथा मरीजों के आसपास चूहे न पहुंच सकें, इसके लिए रैट ट्रैप लगवाए जा रहे हैं।

 

परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार दातागंज तहसील क्षेत्र के कस्बा दातागंज बुध बाजार निवासी राम सेवक गुप्ता दो दिन पूर्व हुए एक सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गए थे, जिन्हें इलाज के लिए राजकीय मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

 

घायल मरीज के भाई राम प्रकाश गुप्ता ने बताया कि राम सेवक की गंभीर हालत देखते हुए मेडिकल स्टाफ ने उनको आईसीयू वार्ड में वेंटीलेटर सपोर्ट पर रख उनका इलाज शुरू कर दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि इसी दौरान रात में तैनात कर्मचारियों की लापरवाही के चलते वार्ड में चूहों ने उनके शरीर के कई अंगों माथे, कान और पैर की अंगुलियों को कुतर दिया।

 

राम प्रकाश ने बताया कि इस बात का खुलासा तब हुआ जब राम सेवक की पत्नी अपने पति को देखने आईसीयू वार्ड में गई। उन्होंने बताया कि उन्होंने देखा कि एक चूहा उनके पति के पैर को कुतर रहा है और उस जगह से खून निकल रहा था।

 

इस संबंध में बदायूं राजकीय मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. एनसी प्रजापति ने कहा कि उन्होंने स्वयं वार्ड में जाकर इसकी जांच की, जहां ऑक्सीजन पाइप के निकट बने होल व खिड़की के पास से चूहे वार्ड में आ रहे थे, जिसकी मरम्मत कराकर चूहों के आने-जाने के सभी रास्ते बंद करा दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि आसपास में काफी खुला स्थान और खेत हैं। मरीज के परिजन एवं तीमारदार भी वहां बैठकर भोजन करते हैं, जिससे चूहे अक्सर वार्ड में आ जाते हैं।

 

प्राचार्य ने कहा कि भविष्य में वार्ड और मरीजों के आसपास चूहे न पहुंच सकें, इसके लिए ‘रैट ट्रैप’ (पिंजरे) भी लगवाए जा रहे हैं। साथ ही इस मामले की जांच कराकर लापरवाह लोगों के खिलाफ कार्यवाही भी की जाएगी। उन्होंने बताया कि फिलहाल मरीज बिलकुल स्वस्थ है और शीघ्र ही उसको अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी।Edited By : Chetan Gour (भाषा)


Leave a Comment