1678346

पुरुषोत्तम मास में तुलसी के 10 उपाय, धन और सुख के लिए अवश्य आजमाएं

Photo of author

By jeenmediaa


 

तुलसी के संबंध में पद्म पुराण में वर्णित हैं कि .

 

या दृष्टा निखिलाघसंघशमनी स्पृष्टा वपुष्पावनी।

रोगाणामभिवन्दिता निरसनी सिक्तान्तकत्रासिनी।।

प्रत्यासत्तिविधायिनी भगवतः कृष्णस्य संरोपिता।

न्यस्ता तच्चरणे विमुक्तिफलदा तस्यै तुलस्यै नमः।।- 

 

अर्थात्- जो दर्शन करने पर सारे पापों का नाश कर देती है, स्पर्श करने पर शरीर को पवित्र बनाती है, प्रणाम करने पर रोगों का निवारण करती है, जल से सींचने पर यमराज को भी भय पहुंचाती है, आरोपित करने पर भगवान श्री कृष्ण के समीप ले जाती है और भगवान के चरणों में चढ़ाने पर मोक्षरूपी फल प्रदान करती है, उस तुलसी देवी को नमस्कार है। (पद्म पुराणः उ.खं. 56.22)। ऐसी ही तुलसी जी की महीमा है। 

 

Adhik Maas tulsi ke upaay : इस वर्ष मंगलवार, 18 जुलाई से पुरुषोत्तम/अधिक मास का प्रारंभ हो गया है। धार्मिक मान्यता के अनुसार प्रतिदिन तुलसी (tulsi) की सेवा करने से मनुष्‍य के जीवन में खुशहाली आती है और अपार धन और समस्त सुखों की प्राप्ति होती है। वैसे भी तुलसी जी भगवान विष्णु जी को अतिप्रिय होने तथा पुरुषोत्तम मास यानी अधिक मास श्री विष्‍णु का माह होने और इन दिनों श्रीहरि विष्णु का विशेष पूजन होने के कारण इन दिनों तुलसी जी का पूजन (Tulsi Worship) और कुछ खास उपाय करने से जीवन के सभी कष्टों से मुक्ति मिलती है तथा धन और सुख की प्राप्ति होती है। 

 

आइए यहां आपके लिए प्रस्तुत हैं पुरुषोत्तम मास में तुलसी जी के 10 खास उपाय- 

 

1. प्राचीन परंपरा के अनुसार तुलसी के पौधे में जल चढ़ाना और उसका पूजन चाहिए। अत: जिस घर में प्रतिदिन तुलसी की पूजा होती है, वहां धन की कभी कोई कमी महसूस नहीं होती है। उस घर में सुख-समृद्धि, सौभाग्य बना रहता है। 

 

2. धार्मिक मान्यता के अनुसार हर घर के बाहर तुलसी का पौधा होने से घर में पवित्रता बनी रहती है तथा नकारत्मकता दूर होकर व्यापार में निरंतर उन्नति होती है। 

 

3. तुलसी पूजन के समय 'ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नम:' मंत्र का जाप करने से घर में पवित्रता तथा सुख-समृद्धि के योग बनते हैं। और श्रीहरि और माता लक्ष्मी की अपार कृपा मिलती है। 

 

4. इस माह यदि प्रतिदिन जल में तुलसी पत्ते डालकर स्नान किया जाए तो तीर्थ स्नान का फल मिलता है तथा श्री विष्णु की कृपा प्राप्त होती है।

 

5. घर का वास्तु दोष दूर करने में तुलसी बहुत सहायक है। यदि घर की सही दिशा में तुलसी लगाई जाए और उसका पूजन किया जाए तो वहां रहने वालों को कई लाभ मिलते हैं तथा धन प्राप्ति के रास्ते खुलते हैं। 

 

6. पौराणिक शास्त्रों की मानें तो तुलसी के पत्तों के सेवन से भी देवताओं की विशेष कृपा मिलती है। 

 

7. महिलाएं यदि सुख-समृद्धि की प्राप्ति के लिए पुरुषोत्तम मास में तुलसी जी का पूजन करती हैं तो इसके आश्चर्यजनक परिणाम मिलते हैं।

 

8. इन दिनों सावन मास भी चल रहा है। अत: यह माना जाता है कि अधिक मास में घर के आंगन में तुलसी का पौधारोपण करने से गृह क्लेश और अशांति दूर होती है। 

 

9. अधिक मास में तुलसी के पत्ते और गंगाजल में मिलाकर स्नान करने से भगवान श्री विष्णु का आशीर्वाद मिलता है।

 

10. तुलसी भगवान व‌िष्णु के स‌िर पर शोभित रहती हैं, अत: इन दिनों तुलसी पत्ता मुंह में डालने से व्यक्त‌ि के जीवन के सभी संकट दूर होते हैं। 

 

अस्वीकरण (Disclaimer) : चिकित्सा, स्वास्थ्य संबंधी नुस्खे, योग, धर्म, ज्योतिष आदि विषयों पर वेबदुनिया में प्रकाशित/प्रसारित वीडियो, आलेख एवं समाचार सिर्फ आपकी जानकारी के लिए हैं। वेबदुनिया इसकी पुष्टि नहीं करता है। इनसे संबंधित किसी भी प्रयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

 

ALSO READ: अधिक मास, मल मास, खरमास और पुरुषोत्तम मास का अर्थ और महत्व

ALSO READ: क्या है पुरुषोत्तम माह का महत्व, जानें पौराणिक कथा


Leave a Comment