1678346

केसर का तिलक क्यों लगाते हैं, क्या होगा फायदा

Photo of author

By jeenmediaa


 

(Saffron) : केसर को आयुर्वेद में एक औषधि माना गया है। सेहत के लिहाज से भोजन में भी इसका अधिकतर उपयोग किया जाता है। अंग्रेजी में इसे सेफ्रॉन कहते हैं। आइए यहां जानते हैं क्यों लगाना चाहिए केसर का तिलक और क्या हैं इसके फायदे- 

 

क्यों लगाएं केसर का तिलक : kesar ka tilak kyon lagayen 

 

ज्योतिष शास्त्र की मानें तो यदि किसी व्यक्ति की जन्म कुंडली में गुरु/ बृहस्पति ग्रह कमजोर है तो यह आपके भाग्य तथा आयु दोनों को कमजोर करता है। अत: यदि आपका भाग्य सोया हुआ है तो इस ग्रह से संबंधित उपाय करने से लाभ प्राप्त होगा।

कहा जाता है कि कुंडली में यदि बृहस्पति अच्छा है तो जीवन में सबकुछ अच्‍छा ही अच्छा होगा। इसीलिए गुरु ग्रह को बलवान बनाने तथा बृहस्पति के शुभ परिणाम पाने के लिए ही केसर का तिलक लगाने की सलाह दी जाती है।

आपको बता दें कि केसर जहां देवी-देवताओं को प्रसन्न करता है, वहीं यह आकर्षणशक्ति, व्यक्तित्व, सफलता, सौंदर्य, धन-संपदा, आरोग्यता और आयु बढ़ाने में भी कारगर है। 

 

आइए अब यहां जानते हैं कि ज्योतिष के अनुसार केसर के तिलक से किस तरह अपने भाग्य को चमका सकते हैं। जानें फायदे… kesar tilak ke fayde 

 

1. गुरु का बल बढ़ाने के लिए केसर का तिलक लगाएं। 

 

2. यदि हर गुरुवार को केसर का तिलक लगाया जाए तो कुंडली में बृहस्पति के अच्छे प्रभाव मिलते हैं। 

 

3. प्रतिदिन केसर का तिलक लगाने से गुरु ग्रह बलवान होता है तथा नौकरी में सफलता मिलती है। 

 

4. यदि बृहस्पति ग्रह सातवें, आठवें या दसवें भाव में बैठा है तो प्रतिदिन केसर का तिलक लगाने से भाग्य चमकेगा।

 

5. प्रतिदिन केसर का तिलक लगाने से भगवान शिव, श्रीहरि विष्णु, श्री गणेश और माता लक्ष्मी को भी प्रसन्न होते हैं। 

 

6. मन अशांत रहता हो तो केसर का तिलक लगाने से लाभ होगा। 

 

7. हर रोज माथे पर केसर का तिलक लगाने से घर में सुख-समृद्धि को बढ़ावा मिलता है। 

 

8. पितृदोष से पीड़ित हो तो केसर का तिलक लगाने से फायदा मिलता है।

 

9. गुरु के बलवान होने से करियर चमकता है।

अस्वीकरण (Disclaimer) : चिकित्सा, स्वास्थ्य संबंधी नुस्खे, योग, धर्म, ज्योतिष आदि विषयों पर वेबदुनिया में प्रकाशित/प्रसारित वीडियो, आलेख एवं समाचार सिर्फ आपकी जानकारी के लिए हैं। वेबदुनिया इसकी पुष्टि नहीं करता है। इनसे संबंधित किसी भी प्रयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

ALSO READ: बृहस्पति ग्रह के भरणी नक्षत्र में गोचर से 4 लोगों को रहना होगा सतर्क

ALSO READ: अधिक मास में कर लें 5 उपाय, जीवन के सभी संकट हो जाएंगे दूर


Leave a Comment