1678346

एशिया कप में गेंदबाजी की मुफीद पिच पर भिडेंगें भारत और पाकिस्तान

Photo of author

By jeenmediaa


INDvsPAK भारत और पाकिस्तान के बीच एशिया कप Asia Cup 2023 का बहुचर्चित मैच श्रीलंका में होगा जिस पर मेजबान पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के पूर्व पदाधिकारियों ने मंजूरी जताई थी। आईपीएल चेयरमैन अरूण धूमल ने बुधवार को इसकी पुष्टि की।धूमल इस समय डरबन में आईसीसी मुख्य कार्यकारियों की बैठक के लिये गए हैं। उन्होंने पुष्टि की कि बीसीसीआई सचिव जय शाह और पीसीबी प्रमुख जाका अशरफ की बृहस्पतिवार को होने वाली आईसीसी बोर्ड की बैठक से पहले मुलाकात हुई ताकि एशिया कप का कार्यक्रम तय हो सके।

इस महीने की शुरूआत में पद संभालने वाले अशरफ ने नजम सेठी की अध्यक्षता वाले पीसीबी के पूर्व प्रशासन द्वारा हाइब्रिड मॉडल को मंजूरी दिये जाने पर नाराजगी जताई थी। पीसीबी 31 अगस्त से 17 सितंबर तक होने वाले एशिया कप का मेजबान है जो पाकिस्तान और श्रीलंका में खेला जायेगा।धूमल ने डरबन से पीटीआई से कहा ,‘‘हमारे सचिव ने पीसीबी प्रमुख जाका अशरफ से मुलाकात की और एशिया कप के कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया गया। यह उसी के अनुरूप है जिस पर पहले बात की गई थी। पाकिस्तान में लीग चरण के चार मैच होंगे जिसके बाद नौ मैच श्रीलंका में होंगे।इसमें भारत और पाकिस्तान का मैच शामिल है। दोनों टीमें फाइनल खेलती हैं तो वह भी श्रीलंका में होगा।’’

उन्होंने पाकिस्तान मीडिया में आ रही इन अटकलों को खारिज किया कि भारतीय टीम पाकिस्तान जायेगी। पाकिस्तान के खेल मंत्री अहसान मजारी के हवाले से ऐसी खबरें आ रही थीं।धूमल ने कहा ,‘‘ इस तरह की कोई बात नहीं हुई । भारतीय टीम या हमारे सचिव पाकिस्तान नहीं जायेंगे। सिर्फ कार्यक्रम तय किया गया है।’’

भारतीय टीम श्रीलंका के दाम्बुला में पाकिस्तान से खेल सकती है।मौसम को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया है। दाम्बुला में गेंदबाजों का बोलबाला रहा है और वनडे में पहली पारी का औसत स्कोर 220 रन रहा है।
पाकिस्तान का अपनी धरती पर एकमात्र घरेलू मैच नेपाल के खिलाफ होगा।इनके अलावा पाकिस्तान में अफगानिस्तान बनाम बांग्लादेश, बांग्लादेश बनाम श्रीलंका और श्रीलंका बनाम अफगानिस्तान मैच होंगे।

हाल ही में पाकिस्तान के खेल मंत्री मजारी ने कहा था कि अगर भारतीय टीम एशिया कप खेलने पाकिस्तान नहीं आयेगी तो पाकिस्तानी टीम भी वनडे विश्व कप खेलने भारत नहीं जायेगी।बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि शायद पाकिस्तानी खेलमंत्री को एशियाई क्रिकेट परिषद की पूर्व में हुई बैठक के बारे में पता नहीं है जिसमें कार्यकारी समिति ने हाइब्रिड मॉडल को मंजूरी दी थी जिसका सुझाव पूर्व पीसीबी अध्यक्ष सेठी ने दिया था ।

बैठक के दौरान मौजूद एसीसी बोर्ड के एक वरिष्ठ सदस्य ने पीटीआई को बताया ,‘‘ हमें पीसीबी की अंदरूनी घटनाओं से कोई सरोकार नहीं है ।हमें इतना पता है कि हाइब्रिड मॉडल पर पीसीबी ने मंजूरी जताई थी। इसके बारे में पीसीबी ने आधिकारिक प्रेस विज्ञप्ति भी जारी की थी कि चार मैच पाकिस्तान में होंगे और बाकी श्रीलंका में।’’जहां तक विश्व कप का सवाल है तो पीसीबी को आईसीसी सदस्य प्रतिभागिता समझौता मानना होगा जिस पर 2015 में आठ साल के लिये सभी पूर्ण सदस्यों ने हस्ताक्षर किये थे।


Leave a Comment