1678346

उत्तरकाशी में कई जगह बादल फटे, प्रभावितों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया

Photo of author

By jeenmediaa


Uttarakhand News : उत्तरकाशी जिले में पुरोला, बड़कोट, धौंतरी समेत कई स्थानों पर अतिवृष्टि और बादल फटने की घटनाएं हुईं जिनमें सड़क, पुलिया, खेत-खलियान, मकान और दुकानों को काफी नुकसान पहुंचा है। इनमें फिलहाल जनहानि की सूचना नहीं है। प्रभावितों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

 

शुक्रवार रात करीब ढाई-तीन बजे बादल फटने व अतिवृष्टि होने की सूचना मिलने पर उत्तरकाशी के जिलाधिकारी अभिषेक रुहेला ने जिला आपदा नियंत्रण कक्ष से इस संबंध में जानकारी जुटाई। उन्होंने जनप्रतिनिधियों से भी सम्पर्क साधा और अतिवृष्टि से प्रभावित लोगों के बारे में तथा क्षेत्र में हुए नुकसान की जानकारी ली। जिलाधिकारी ने घटना स्थलों पर मौजूद सभी उप जिलाधिकारियों से राहत कार्यों की गति को निरंतर तेज बनाए रखने और प्रभावितों को आज ही सहायता राशि वितरित करने के निर्देश दिए हैं।

 

बड़कोट तहसील के गंगनानी में भूस्खलन का मलबा आने के कारण एक पर्यटक रिजॉर्ट के कुछ कॉटेज क्षतिग्रस्त हुए हैं। गंगनानी में कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय के परिसर में भी मलबा घुसा जिससे वहां रह रहीं छात्राएं काफी घबरा गईं। हालांकि विद्यालय की सभी छात्राएं सुरक्षित हैं।

 

विद्यालय की वार्डन सरोजनी ने कहा कि रात में बहुत अधिक वर्षा हुई जिससे परिसर में पानी और मलबा भर गया। उन्होंने कहा कि राज्य आपदा प्रतिवादन बल के जवान विद्यालय पहुंचे और उन्होंने स्थिति को काबू में किया। पुरोला के छाड़ा खड्ड में भी बादल फटने और भूस्खलन की घटनाएं हुईं। शनिवार सुबह प्रभावित लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। यहां सड़क पर खड़े वाहन भी मलबे में दब गए हैं।

 

धौंतरी गांव के निकट भू-धंसाव हुआ है। भारी वर्षा के बीच पूरे क्षेत्र में बिजली आपूर्ति ठप है। इसके साथ ही बड़कोट और गंगनानी के बीच कई स्थानों पर यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग यातायात के लिए अवरुद्ध है। आलवेदर रोड निर्माण में लगी कंपनी मार्ग को यातायात के लिए खोलने के कार्य में जुटी हुई है।
Edited By : Chetan Gour (भाषा)


Leave a Comment