1678346

'अब भी खून गर्म है', एतिहासिक शतक ठोकने के बाद कोहली ने यह कहा (Video)

Photo of author

By jeenmediaa


भारत के स्टार बल्लेबाज Virat Kohli विराट कोहली ने टेस्ट क्रिकेट में अपना 29वां शतक लगाने के बाद कहा कि जब वह विपरीत परिस्थितियों का सामना करते हैं तो खुद को उत्साहित महसूस करते हैं तथा वह वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट क्रिकेट मैच में यह सैकड़ा जमा कर संतुष्ट हैं।INDvsWI

चौतीस वर्षीय कोहली ने शुक्रवार को 121 रन की पारी खेलकर सर डॉन ब्रैडमैन के 29 टेस्ट शतकों के रिकॉर्ड की बराबरी की जिससे भारत ने अपनी पहली पारी में 438 रन बनाए। यह पिछले पांच वर्षों में विदेशों में उनका पहला अंतरराष्ट्रीय शतक है। उन्होंने विदेश में अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय शतक 2018 में बनाया था।

कोहली ने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने के बाद कहा,‘‘ मैंने वास्तव में इस पारी का पूरा आनंद लिया। मैं अच्छी लय में था और मैं इसे बनाए रखना चाहता था। मैंने जब क्रीज पर कदम रखा तो वह चुनौतीपूर्ण समय था। ऐसे मौकों पर जबकि मुझे चुनौतियों का सामना करना होता है तो मैं उत्साहित महसूस करता हूं’’उन्होंने कहा,‘‘ मुझे धैर्य बनाए रखने की जरूरत थी क्योंकि आउटफील्ड धीमी थी। यह बेहद संतोषजनक है क्योंकि मुझे कड़ी मेहनत करनी पड़ी।’’

यह कोहली का 500 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 76वां शतक है। उन्होंने पहले 500 मैचों में 74 अंतरराष्ट्रीय शतकों के सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया।

कोहली ने कहा,‘‘ सबसे पहले तो मैं इस बात का आभारी हूं कि मुझे भारत की तरफ से 500 मैच खेलने को मिले। मैंने विदेशों में 15 शतक लगाए हैं। मैंने भारत की तुलना में विदेशी धरती पर अधिक शतक लगाए हैं। इसके अलावा मैंने कुछ अर्धशतक भी जमाए हैं।’’उन्होंने कहा,‘‘मुझे बस इस पर ध्यान केंद्रित करना है कि मुझे टीम के लिए क्या करना है। मैं टीम की जीत में अपना योगदान देने का प्रयास करता हूं। जब टीम को मेरी जरूरत होती है तब यह आंकड़े और उपलब्धियां बहुत मायने रखते हैं।’’

कोहली ने कहा,‘‘ यह मेरे लिए विशेष मौका है। मैं टेस्ट मैच की इससे बेहतर शुरुआत की उम्मीद नहीं कर सकता।’’दुनिया के सबसे फिट क्रिकेटरों में से एक कोहली ने अपनी फिटनेस के बारे में कहा,‘‘ मैं अपना पूरा ध्यान रखता हूं। अभ्यास, नींद, आराम और अपने आहार का पूरा ध्यान देता हूं। एक रन को दो रन में बदलना मेरे लिए आसान काम है। इससे मुझे दबाव मुक्त रहने में मदद मिलती है। अच्छी फिटनेस से मुझे सभी प्रारूपों में खेलने में मदद मिलती है।’’(भाषा)


Leave a Comment