1678346

अधिकमास के 5 आसान मंत्र और 3 उपाय

Photo of author

By jeenmediaa


 

Adhik maas 2023 : अधिक मास/ पुरुषोत्तम मास में भगवान श्रीहरि विष्णु को प्रसन्न किया जाता है। अधिकमास को लेकर ऐसी मान्यता है कि इन दिनों सगाई, शुभ विवाह, वधू गृह प्रवेश, मुंडन, नया भवन-निर्माण, नवीन व्यापार- व्यवसाय आदि जैसे शुभ कार्य वर्जित हैं। लेकिन इस माह में धर्म-कर्म पर अधिक ध्यान देने की बात कहीं गई है। अत: अधिक मास में भगवान विष्णु के मंत्रों का जाप करने और कुछ खास उपाय करने से जीवन के हर तरह के संकट दूर होते हैं। 

 

आइए इस लेख में जानते हैं भगवान विष्णु के 5 प्रभावशाली मंत्र और 3 आसान उपायों के बारे में- Adhik maas mantra or upay

 

5 मंत्र : Lord Vishnu Mantra

 

1. ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नम:। 

 

2. ॐ नमो नारायण। श्री मन नारायण नारायण हरि हरि। 

 

3. ॐ नारायणाय विद्महे। वासुदेवाय धीमहि। तन्नो विष्णु प्रचोदयात्।।

 

4. शांताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं सुरेशं 

विश्वाधारं गगनसदृशं मेघवर्णं शुभांगम

लक्ष्मीकांतं कमलनयनं योगिभिर्ध्यानगम्यं 

वंदे विष्‍णुं भवभयहरं सर्वलोकैकनाथम्।। 

 

5. ॐ नारायणाय नम:।

 

आसान उपाय- Adhik maas ke upay

 

1. पुरुषोत्तम मास में प्रतिदिन ब्रह्म मुहूर्त में स्नानादि से निवृत्त होकर श्रीहरि विष्णु का केसरयुक्त दूध से अभिषेक करें। और तुलसी की माला से 'ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः' मंत्र का 108 बार जाप करें। 

 

2. पीपल वृक्ष में भगवान विष्णु का वास माना गया है, अत: अधिकमास में पीपल का पूजन करें और सायंकाल में पीपल वृक्ष के पास शुद्ध घी का दीया जलाएं।

 

3. अधिकमास में भगवान श्री विष्णु की आराधना करके उन्हें तुलसी के पत्तों से युक्त खीर का भोग लगाएं।

अस्वीकरण (Disclaimer) : चिकित्सा, स्वास्थ्य संबंधी नुस्खे, योग, धर्म, ज्योतिष आदि विषयों पर वेबदुनिया में प्रकाशित/प्रसारित वीडियो, आलेख एवं समाचार सिर्फ आपकी जानकारी के लिए हैं। वेबदुनिया इसकी पुष्टि नहीं करता है। इनसे संबंधित किसी भी प्रयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

ALSO READ: अधिक मास में इन 33 देवताओं की पूजा करने से होगा बड़ा फायदा

ALSO READ: अधिक मास कैसे बना पुरुषोत्तम मास, पढ़ें पौराणिक कथा

 

 


Leave a Comment