1678346

अगस्त में कहां जा सकते हैं घूमने, भारत की 6 सबसे अच्छी जगहें

Photo of author

By jeenmediaa


Tour and travel in august 2023 । अगस्त के मौसम में भी बारिश रहती है परंतु जब बारिश का इतना जोर नहीं रहता है। इस माह में सभी नदियां उफान पर रहती है और झरने अपने शबाब पर रहते हैं। ऐसे में अगस्त का माह घूमने के लिए बहुत ही उत्तम है। यदि आप अगस्त में घूमने का प्लान बना रहे हैं तो हमारी बताई 6 जगहों पर जरूर घूमने जाएं।

 

1. हैवलॉक आईलैंड का राधानगर बीच, अंडमान : यदि आप समुद्र तट पर जाना चाहत हैं तो भारत के अंडमान निकोबार द्वीप समूह के अंडमान में हैवलॉक आईलैंड का राधानगर बीच विश्‍व के सबसे सुंदर और सुकून भरे बीच में शामिल है। यहां के नीले समुद्र पर सूर्यास्त का नजारा देखने बहुत ही रोमांचभरा होता है। यह पूरी दुनिया से अनोखा है।

 

2. लोनावला हिल स्टेशन : यदि आप पहाड़ी क्षेत्र में जाना जाहते हैं तो महाराष्ट्र में मुंबई से करीब 96 किलोमीटर और खंडाला से लगभग 5 कीलोमीटर दूर स्थित है लोनावला (लोणावळा) हिल स्टेशन। पूणे से मात्र 2 घंटे का रास्ता है। इसे झीलों का जिला कहते हैं। मुंबई और पूना वासियों के लिए यह उनका फेवरिट डेस्टिनेशन है। इस हिल स्टेशन क्षेत्र में लोनावला झील, तिगौती झील, मानसून झील और वाल्वन झील प्रमुख हैं, जिन्हें देखना बहुत ही अद्भुत है। खासकर वाल्वन झील पर बना वाल्वन बांध एक बेहतरीन पिकनिक स्पॉट है।

 

3. कान्हा राष्ट्रीय उद्यान : यदि आप जंगल की सैर करना चाहते हैं तो अगस्त माह के अंतिम सप्ताह में या सितंबर के प्रथम सप्ताह में यहां जाएं। एशिया के सबसे सुरम्य और खूबसूरत वन्यजीव रिजर्वों में से एक है कान्हा राष्ट्रीय उद्यान। यहां पर हजारों पशु और पक्षियों का झुंड है। मंडला और जबलपुर शहर से सड़क मार्ग द्वारा 'कान्हा राष्ट्रीय उद्यान' तक पहुंचा जा सकता है। बारिश के मौसम में भी यहां पर घूमने की सरकार ने व्यवस्था की है। खटिया गेट से बफर जोन घूमने के लिए पर्यटकों को एंट्री टिकिट मिलेगी। यह जोन लगभग 35 वर्ग किमी का है और यहां अधिकांश वन्यप्राणी दिखाई पड़ते हैं। जबकि यह पार्क 1 जुलाई से 30 सितंबर तक के लिए बंद कर दिया जाता है। यहां जाने से पहले वर्तमान का स्टेटस जरूर देख लें।

4. उदयपुर : यदि आप झीलों का आनंद लेना चाहते हैं तो राजस्थान के उदयपुर जाएं। यहां पर हां पर कई ऐतिहासिक इमारतें, किले और झीलें हैं। हां की हवेलियों और महलों की भव्यता को देखकर दुनिया भर के पर्यटक मंत्रमुग्ध हो जाते हैं। शानदार बाग-बगीचे, झीलें, संगमरमर के महल, हवेलियां आदि इस शहर की शान में चार चांद लगाते हैं। अरावली की पहाड़ियों से घीरे और पांच मुख्य झीलों के इस शहर को देखने या घुमने-फिरने के लिए कभी भी जा सकते हैं।

 

5. कन्याकुमारी : यहां पर तीन सागरों का संगम होता है। कन्याकुमारी में तीन समुद्रों-बंगाल की खाड़ी, अरब सागर और हिन्द महासागर का मिलन होता है। इस स्थान को त्रिवेणी संगम भी कहा जाता है। जहां समुद्र अपने विभिन्न रंगों से मनोरम छटा बिखेरते रहते हैं। समुद्र बीच पर रंग-बिरंगी रेत इसकी सुंदरता में चार चांद लगा रही थी। कन्याकुमारी अपने सूर्योदय के दृश्य के लिए काफी प्रसिद्ध है। सुबह हर होटल की छत पर पर्यटकों की भारी भीड़ सूरज की अगवानी के लिए जमा हो जाती है। शाम को सागर में डूबते सूरज को देखना भी यादगार होता है। उत्तर की ओर करीब 2-3 किलोमीटर दूर एक सनसेट प्वॉइंट भी है।

 

6. कुंचिकल झरना- निदगोडु कर्नाटक : यदि आप झरना देखना चाहते हैं तो यहां पर जरूर जाएं। यह दुनिया के टॉप झरनों में से एक है। ऊंचाई लगभग 455 मीटर। यहां वराही नदी का पानी बहता है। हालांकि यहां का प्रसिद्ध जोग वाटरफॉल भी है। साउथ गोवा में आप दूधसागर झरना भी देख सकते हैं और सबसे चौड़ा छरना देखना है तो छत्तीगढ़ में चित्रकोट चले जाएं।

 


Leave a Comment